शराब के नशे में पुलिसकर्मी मिला सड़क किनारे : शराबबंदी की खुली पोल


नालंदा/बिहारशरीफ : पिछले कुछ दिनों पूर्व मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के निर्देश पर पुलिस कर्मियों ने शराब नहीं पीने और न ही पीने देने का शपथ लिया था । मगर कुछ दिनों बाद ही कई जगह से पुलिस वालों के शराब के नशे में की तस्वीर आने लगी। इससे मुख्यमंत्री के गृह जिले में इस तरह की घटना से यह स्पष्ट हो जाता है कि पूर्ण शराबबंदी कितना कारगर है। ताजा मामला बिहार थाना इलाके के खंदकपर बस स्टैंड के समीप सड़क किनारे बिहार पुलिस के हवलदार पड़ा था । हवलदार के पास से मिले आईडी कार्ड से पता चलता है कि वह दीपनगर थाना इलाके के चोराबगीचा निवासी सुभाष कुमार है । वर्तमान में वह मुंगेर जिला बल में पदस्थापित है ।सूचना पर पहुंची 112 आपात वाहन के अधिकारियों ने उसे इलाज के लिए बिहारशरीफ सदर अस्पताल में भर्ती कराया । जहाँ से उसके परिजन को सूचना दी गयी ।आपात 112 वाहन के अधिकारी लक्ष्मण पासवान ने बताया कि उन्हें सूचना मिली थी कि रेलवे स्टेशन रोड खंदकपर एक अधेड़ सड़क किनारे पड़ा हुआ है । वहाँ पहुचने पर पता चला कि कोई पुलिसकर्मी है । शराब पीने के बाद नशे की हालत कहीं जा रहा था इसी दौरान कोई अज्ञात वाहन की चपेट में आ गया है । इस कारण वह सड़क किनारे गिरा हुआ था । परिजन को इसकी जानकारी दे दी गयी है । नगर थानाध्यक्ष संतोष कुमार ने कहा कि नशे की पुष्टि होने के बाद गिरफ्तार कर लिया गया । आपको बताते चलें कि नालंदा जिले में उत्पाद विभाग एवं जिला पुलिस बल के द्वारा प्रतिदिन छापामारी कर शराब व्यवसाय के कारोबारियों को शराब के साथ पकड़ा जाता है इससे मामला स्पष्ट होता है कि बिहार में पूर्ण शराबबंदी का प्रशासनिक अधिकारियों द्वारा मजाक उड़ाया जा रहा है। नहीं तो पूर्ण शराब बंदी वाले बिहार में उत्पाद अधीक्षक एवं पुलिस कर्मियों द्वारा प्रतिदिन 10 – 20 लीटर शराब पकड़ कर उसकी तस्वीरें छपवा कर अपनी पीठ नहीं थपथपाते।

The post शराब के नशे में पुलिसकर्मी मिला सड़क किनारे : शराबबंदी की खुली पोल appeared first on IDEACITI NEWS NETWORK.



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.