Mahua Live Nalanda: कार्तिक पूर्णिमा आज, कोसुक और गिरियक के त्रिवेणी घाट पर श्रद्धालु लगाएंगे आस्था की डुबकी।

Mahua Live Nalanda:कार्तिक पूर्णिमा कि अहले सुबह नदियों में आस्था की डुबकी लगाने श्रद्वालु पहुंचेंगे। खासकर बिहारशरीफ से सटे कोसुक घाट व गिरियक के त्रिवेणी घाट पर अपार भीड़ उमड़ेगी। हालांकि, जारी कोरोना गाइडलाइन के कारण इस बार कोसुक में बाबा चौहरमल तो गिरियक में काष्ठ मेला नहीं लग सकेगा। कोसुक के पंचाने नदी घाट को गोविन्द नक्षत्र का दर्जा मिला हुआ है। मान्यता यह कि महाभारत काल में पंडालों के साथ राजगीर जाने के दौरान भगवान श्रीकृष्ण भी यहां डुबकी लगाये थे। इसी कारण हर साल कार्तिक पूर्णिमा के मौके पर यहां दूर-दराज से श्रद्धालु स्नान करने आते है। नदी से थोड़ी दूर पर बाबा चौहरमल का मंदिर है। पूजा कमेटी के सक्रिय सदस्य अमित पासवान कहते हैं कि मेला नहीं लगेगा। लेकिन, विशेष पूजा की तैयारी जोर-शोर से चल रही है। जबकि, गिरियक के पंचाने घाट की प्रसिद्धि भी खूब है। यहां भी काफी भीड़ जुटती है। पूर्णिमा के मौके पर राजगीर के ब्रह्मकुंड व अन्य गर्म कुंडों में भी श्रद्धालु डुबकी लगाते हैं।

परिधि और छत्र योग में मनेगी पूर्णिमा:
ज्योतिष के जानकार बताते हैं कि इस बार कार्तिक पूर्णिमा पर परिधि और छत्र योग का महासंयोग बन रहा है। यह बहुत ही शुभ फलदायी है। परंपरा के अनुसार कार्तिका पूर्णिमा की सुबह में आस्था की डुबकी लगाने के बाद लोगों को नदी में दीप दान भी करना चाहिए। स्नान व दान से सारे मनोरथ पूरे होते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.