Mahua Live Nalanda: हिंदी दिवस पर “माँ मालती देवी स्मृति सम्मान” से सम्मानित होंगें देश भर के पांच साहित्यकार एवं समाजसेवी।


सिस्टर रोज, जनकवि दीनानाथ सुमित्र, युवा कवियित्री गरिमा सक्सेना, कवि दिनेश देवघरिया एवं युवा समीक्षक मुकेश कुमार सिन्हा को मिलेगा सम्मान।

काव्यार्पण के तहत होगा ‘अखिल भारतीय कवि सम्मेलन’ का भी आयोजन

Mahua Live Nalanda:विगत सात वर्षों से प्रत्येक वर्ष 14 सितंबर (हिंदी दिवस) के दिन माँ मालती देवी के पुण्य स्मृति में साहित्य व समाज सेवा में उत्कृष्ट योगदान के लिए “माँ मालती देवी स्मृति न्यास’ द्वारा कविता कोश एवं नालंदा जिला हिंदी साहित्य सम्मेलन के तत्वावधान में प्रदान किया जाने वाला प्रतिष्ठित सम्मान “माँ मालती देवी सम्मान 2021” के कार्यकारिणी की ऑनलाइन बैठक आयोजित की गई। जिसमें सर्व सम्मति से अलंकृत होने वाले विभूतियों के नामों पर चर्चा हुई।

बैठक में निर्णय लिया गया कि कोरोना के चलते एहतियातन इस वर्ष का कार्यक्रम ऑनलाइन आयोजित किये जायें । बैठक में 2021 में माँ मालती देवी स्मृति सम्मान 2021 से अलंकृत होने वाले विभूतियों में साहित्य के क्षेत्र में अनुपम योगदान हेतु जन कवि के नाम से प्रसिद्ध बेगूसराय के वरिष्ठ साहित्यकार दीनानाथ सुमित्र, उत्तर प्रदेश हिंदी संस्थान द्वारा बालकृष्ण शर्मा नवीन पुरस्कार प्राप्त बेंगलुरु की युवा कवियित्री गरिमा सक्सेना, देवघर से ओज के युवा राष्ट्रीय कवि दिनेश देवघरिया, गया के समीक्षक एवं युवा साहित्यकार मुकेश कुमार सिन्हा साथ कि साथ समाज सेवा में अनुकरणीय योगदान हेतु चेतनालाय संस्था की संचालिका सिस्टर रोज के नाम पर सर्व सम्मति बनी। सिस्टर रोज अपनी संस्था चेतनालाय के माध्यम से गरीब परिवार के बच्चों ख़ास कर बेटियों के शिक्षा व विकास के लिए अनुकरणीय कार्य कर रहीं हैं। नालंदा के नाम को अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर गौरवान्वित करने वाली रग्बी खिलाड़ी स्वेता शाही के नाम पर भी सर्व सहमति बनी। बैठक की अध्यक्षता माँ मालती देवी स्मृति न्यास के अध्यक्ष वरिष्ठ मगही कवि उमेश प्रसाद उमेश ने किया। नालंदा जिला हिंदी साहित्य सम्मेलन, कविता कोश व कवि मित्र के संयुक्त तत्वावधान में आयोजित होने वाले इस कार्यक्रम के आलोक में आहूत बैठक में नालंदा जिला हिंदी साहित्य सम्मेलन के अध्यक्ष विनय कुमार कुशवाहा, सचिव महेंद्र कुमार विकल, श्वेतवर्णा प्रकाशन की प्रबंधक शारदा सुमन, कविता कोश के उप निदेशक राहुल शिवाय व ‘कवि मित्र’ के ब्रांड अम्बेसडर प्रसिद्ध कवि डॉ प्रतीक गुप्ता, निर्देशक श्री गुरमीत सिंह गुनी, न्यास की सचिव व कार्यक्रम संयोजिका मीनाक्षी मुकेश शामिल हुए।कार्यक्रम के संयोजक युवा कवि संजीव कुमार मुकेश ने बताया कि विगत सात वर्ष से इस आयोजन को करने का उद्देश्य माँ शब्दिक अर्पण है। जिनके कार्य से सामज को दिशा मिलती है या जीके शब्दों की शक्ति सम्माज में नव चेतना जागृत करती है उनको सम्मानित कर हम अपने को कृतज्ञ समझते हैं। यह आयोजन वर्चुअल होगा पर सभी सम्मानित विभूतियों को एक भव्य कार्यक्रम में स्मृति चिन्ह, अंग वस्त्रम, प्रमाण पत्र प्रदान किया जाएगा।
इस दिन देश भर के चुनींदा कवियों के कविताओं का संग्रह ‘कविताओं में माँ’ के आवरण का लोकार्पण भी किया जाएगा। इस पुस्तक का प्रकाशन श्वेतवर्णा प्रकाशन दिल्ली से किया जा रहा है। जिसमें पूर्व केंद्रीय शिक्षा मंत्री डॉ रमेश पोखरियाल निशंक, प्रो० जितेंद्र श्रीवास्तव, डॉ महेश्वर तिवारी, डॉ बुद्धिनाथ मिश्र, डॉ विष्णु सक्सेना, पंकज शर्मा सहित देश भर के 100 रचनाकार की रचनाएं संकलित है। जिसका संकलन एवं सम्पादन नालंदा के युवा कवि संजीव कुमार मुकेश ने किया है।कार्यक्रम का सीधा प्रसारण कविता कोश, कवि मित्र के फेसबुक पेज पर किया जाएगा। हिन्दुतान हॉटलाइन न्यूज़ एवं कवि मित्र के यूट्यूब चैनल पर भी सारे कार्यक्रम देखे जा सकेंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.