उज्जवल भारत उज्जवल भविष्य के द्वितीय सत्र का मंत्री ने किया उद्घाटन


नालंदा/बिहारशरीफ : आजादी के अमृत महोत्सव पर बिजली विभाग द्वारा आयोजित उज्जवल भारत उज्जवल भविष्य के द्वितीय सत्र का उद्घाटन ग्रामीण विकास मंत्री श्रवण कुमार,अस्थावां विधायक डॉ जितेंद्र कुमार, विधान पार्षद रीना यादव ,एमटीएस बाढ़ सुब्रतो दे, विद्युत अधीक्षण अभियंता नालंदा सुशील कुमार ,विद्युत कार्यपालक अभियंता विकास कुमार ने संयुक्त रूप से दीप प्रज्वलित कर किया। कार्यक्रम को संबोधित करते हुए मंत्री श्रवण कुमार ने कहा कि बिजली का दुरुपयोग रुक जाए तो बिजली की कभी कमी नहीं रहेगी। उन्होंने कहा कि पड़ोसी राज्य झारखंड में भी बिजली की बहुत कमी है। जनता को संदेश देते हुए मंत्री श्री कुमार ने कहा कि अनाधिकृत रूप से बिजली की खपत को बचाएं और समय पर बिजली बिल का भुगतान करें ताकि आप सभी को कभी बिजली की कमी ना हो। कृषि कार्य में लगे हुए ट्रांसफार्मर के जल जाने के बाद विलंब से बनाए जाने के सवाल पर मंत्री श्री श्रवण कुमार ने कहा कि बिजली विभाग के अधिकारी तत्परता के साथ कृषि कार्य में लगे ट्रांसफार्मर को जल्द से जल्द बदलने का कार्य कर किसानों का सहयोग करेंगे ऐसा हमें विश्वास है। अपने संबोधन में सुब्रतो दे ने कहा कि मुख्यमंत्री बिहार  नीतीश कुमार के दिशानिर्देश में ‘हर-घर बिजली योजना विद्युतीकरण करते हुए इच्छुक परिवार को विद्युत के तहत् जिले के प्रत्येक घरों का संबंध प्रदान किया गया है। हमारे राज्य में वर्ष 2012 में उपभोक्ताओं की संख्या लगभग 38 लाख थी जो वर्त्तमान में बढ़कर लगभग 182 लाख हो गयी है। इसी अवधि में उपभोक्ताओं के लिए बेहतर गुणवत्ता वाली बिजली उपलब्ध कराने हेतु राज्य की बिजली कम्पनिया निरंतर प्रयासरत रही है। इसके लिए बड़ी संख्या म नये ग्रिड सब-स्टेशनों, पावर सब-स्टेशनों एवं डिस्ट्रीब्यूशन सब-स्टेशनों आदि का निर्माण किया गया है। सुशील कुमार ने कहा कि बिहार में वर्ष 2012 में ग्रिड सब -स्टेशनों की संख्या 83 थी जो अब बढ़कर 159 हो गयी है, पावर सब-स्टेशनों की संख्या जो 545 थी, अब बढ़कर 1203 हो गयी है तथा डिस्ट्रीब्यूशन सब-स्टेशनों की संख्या लगभग एक लाख से बढ़कर करीब तीन लाख हो गयी है। विद्युत उपभोक्ताओं को बेहतर एवं त्वरित सेवा देने के लिए सुविधा ऐप’ के माध्यम से विद्युत कम्पनी के द्वारा विद्युत संबंध प्राप्त करने तथा विद्युत संबंधी आम समस्याओं यथा बिल सुधार, लोड बढ़ाना या घटाना आदि के समाधान की व्यवस्था की गयी है, जिसके द्वारा घर बैठे कोई व्यक्ति आवेदन दे सकता है। अब पोर्टल के माध्यम से एचटी विद्युत संबंध के लिए भी आवेदन का प्रावधान किया गया है। डीजल चलित पम्पसेटों को विद्युत मोटरों से बदलने हेतु मुख्यमंत्री कृषि विद्युत संबंध योजना के तहत् विद्युत संबंध दिये जा रहे है। हमारे जिले में अब तक 15564 कृषि विद्युत संबंध दिये जा चुके हैं। मीटर रीडिंग एवं बिजली बिल की समस्या विद्युत कम्पनी के लिए एक बड़ी चुनौती बनी हुई थी। जिससे उपभोक्ताओं को काफी परेशानी उठानी पड़ती थी। इसके समूल निदान के लिए माननीय मुख्यमंत्री के निर्देशानुसार पूरे बिहार में स्मार्ट प्रीपेड मीटर लगाने के कार्य की स्वीकृति दी गयी है।

The post उज्जवल भारत उज्जवल भविष्य के द्वितीय सत्र का मंत्री ने किया उद्घाटन appeared first on IDEACITI NEWS NETWORK.

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.