PFI टेरर केस: दरभंगा में एनआईए की छापेमारी : नूरुद्दीन जंगी, आकिब और मुस्तकीम के घरों को पुलिस ने चारों तरफ से घेरा


बिहार की राजधानी पटना के फुलवारीशरीफ में पॉपुलर फ्रंट ऑफ इंडिया (पीएफआई) आतंकी मॉड्यूल मामले में एनआईए की टीम ने गुरुवार को बिहार के कई जिलों में एक साथ छापेमारी की। एनआईए की दो टीमें दरभंगा जिले के लहेरियासराय थाने के उर्दू मोहल्ला और सिंहवाड़ा थाने के शंकरपुर गांव में भी पहुंचीं। एनआईए ने शंकरपुर में पीएफआई के सदस्य सनाउल्लाह उर्फ आकिब और मुस्तकीम के घरों पर छापेमारी की। वहीं, उर्दू मोहल्ले में नुरुद्दीन जंगी के घर में सघन तलाशी ली।

शंकरपुर में एनआईए की सात सदस्यीय टीम सुबह छह बजे पहुंची। उर्दू मोहल्ले में सात सदस्यीय टीम ने सुबह सात से 09.30 बजे तक छापेमारी की। इस दौरान एनआईए के अधिकारियों के साथ बड़ी संख्या में स्थानीय पुलिस के जवान भी थे। शंकरपुर में पुलिस ने छापेमारी से पहले आकिब और मुस्तकीम के घरों को चारों तरफ से घेर लिया। गांव में आने-जाने वालों पर नजर रखने के लिए भारी पुलिस बल तैनात रहा। सिंहवाड़ा थाना अध्यक्ष मनीष कुमार भी मौके पर मौजूद रहे। टीम ने सनाउल्लाह के घर और उसके पिता की दवा की दुकान सहित पंचायत भवन के सामने स्थित एक दरवाजे की तलाशी ली। पीएफआई के ये दोनों सदस्य घर पर मौजूद नहीं हैं। अधिकारियों ने उनके परिजनों से पूछताछ की। 

उधर, लहेरियासराय थाने के उर्दू मोहल्ले में एनआईए की सात सदस्यीय टीम ने पीएफआई के सदस्य नुरुद्दीन जंगी के घर में तलाशी ली। टीम ने एक-एक चीज का बारीकी से मुआयना किया और परिवार के सदस्यों से नुरुद्दीन के बारे में विस्तार से जानकारी ली। इस दौरान किसी को भी अंदर प्रवेश करने की इजाजत नहीं थी। नुरुद्दीन भी घर पर नहीं है। यहां से निकलते समय एनआईए के अधिकारियों से पत्रकारों ने कई सवाल पूछे, लेकिन उन्होंने किसी भी सवाल का जवाब नहीं दिया। बता दें कि देश विरोधी गतिविधियों में संलिप्त रहने के आरोप में दरभंगा जिले के पीएफआई के इन तीनों सदस्यों के खिलाफ पटना के फुलवारीशरीफ थाने में मामला दर्ज किया गया है।


मोतिहारी, दरभंगा, किशनगंज समेत कई जिलों में NIA की एक साथ छापेमारी

पटना पीएफआई टेरर मॉड्यूल मामले में एनआईए की टीमें गुरुवार सुबह बिहार के कई जिलों में छापेमारी करने पहुंचीं। एनआईए ने मोतिहारी, दरभंगा, किशनगंज, नालंदा और पटना जिले में अलग-अलग जगहों पर दबिश दी। इस दौरान फुलवारीशरीफ में आतंकी कैंप के आरोपियों के ठिकानों पर छापेमारी की गई। एनआईए ने आरोपियों के परिजन, रिश्तेदारों एवं आसपास के लोगों से पूछताछ की और उनकी गतिविधियों के बारे में जानकारी ली। अभी तक छापेमारी में किसी भी गिरफ्तारी की बात सामने नहीं आई है।

पूर्वी चंपारण जिले के चकिया में गुरुवार सुबह एनआईए की टीम भारी संख्या में सुरक्षाबलों के साथ पहुंची। यहां रेयाज मॉरूफ के कुंअवा वार्ड 13 स्थित घर पर छापेमारी की। रेयाज पॉपुलर फ्रंट ऑफ इंडिया (पीएफआई) का राज्य सचिव है। दरभंगा के उर्दू बाजार स्थित पीएफआई वकील नूरुद्दीन जंगी के घर पर एनआईए ने छापा मारा है। साथ ही मोहम्मद मुस्तकीम और सनाउल्लाह के घर पर भी एनआईए की टीम ने दबिश दी है। 

पटना में भी पीएफआई के सदस्य अतहर के घर पर एनआईए की टीम ने छापा मारा है। अतहर अभी जेल में बंद है। एनआईए की टीम ने उसके घर की तलाशी ली। इसके अलावा नालंदा, अररिया, किशनगंज समेत अन्य जिलों में भी एनआईए ने पीएफआई सदस्यों के ठिकानों पर छापेमारी की। नालंदा में मोहम्मद असगर अली के घर तलाशी ली गई। छापेमारी की कार्रवाई सुबह 6 बजे के बाद ही शुरू हो गई। सभी जिलों में एनआईए की अलग-अलग टीमें दल-बदल के साथ पहुंची। स्थानीय पुलिसकर्मियों भी एनआईए के साथ हैं।

बता दें कि पिछले दिनों पटना के फुलवारीशरीफ में पीएफआई के दफ्तर में आतंकी ट्रेनिंग कैंप का भंडाफोड़ हुआ था। हाल ही में इसकी जांच एनआईए को सौंपी गई। इस मामले में पटना पुलिस ने पीएफआई से जुड़े कई लोगों को गिरफ्तार किया। वहीं, अन्य कई नामजद आरोपी अभी फरार हैं, जिनकी तलाश जारी है। पीएफआई के दफ्तर में लोगों को देश विरोधी गतिविधियों और हथियार चलाने की ट्रेनिंग दी जा रही थी। पटना में पीएम नरेंद्र मोदी की यात्रा के दौरान बड़े बवाल की भी साजिश रची गई थी।

The post PFI टेरर केस: दरभंगा में एनआईए की छापेमारी : नूरुद्दीन जंगी, आकिब और मुस्तकीम के घरों को पुलिस ने चारों तरफ से घेरा appeared first on IDEACITI NEWS NETWORK.



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *