शिक्षकों का पांच दिवसीय आयुष्मान भारत,स्वास्थ्य प्रशिक्षण का समापन 


Begusarai : मंसूरचक प्रखंड कार्यालय स्थित बीआरसी भवन में आयुष्मान भारत के तहत विद्यालय स्वास्थ्य कार्यक्रम स्वास्थ्य एवं आरोग्य राजदूत का पांच दिवसीय गैर आवासीय प्रशिक्षण का  समापन शनिवार के दिन राष्ट्रीय गान के साथ किया गया। प्रशिक्षण का संचालन कर रहे ग्रुप ए के मास्टर ट्रेनर डां सुरेंद्र कुमार चौधरी , प्रशांत कुमार ग्रुप बी  के अनिल कुमार पासवान , डां. रूपेश कुमार कर रहे  थें। डॉ सुरेंद्र कुमार चौधरी ने  कहा कि  विद्यालय स्वास्थ्य कार्यक्रम  बच्चों के मानसिक शारीरिक विकास में हो रहे आयु के साथ  शारीरिक बदलाव के बारे में बताया गया‌। उन्होंने कहा विकास सभी बच्चों में एक जैसा नहीं होता है कुछ प्राकृतिक प्रक्रिया है जो समय से पूर्व और कुछ समय के बाद होते हैं जो एक प्राकृतिक प्रक्रिया है अगर ज्यादा समय लिया जाता है तो यह एक चिकित्सीय परामर्श की ओर  इंगित करता है जिसे विद्यालय के आरोग्य दूत के द्वारा उसे उचित परामर्श देते हुये भयमुक्त स्वतंत्र रूप से अध्ययन अध्यापन में जोड़ना और बच्चों को स्वस्थ्य मानसिक स्थिति को आगे बढ़ाने में सहयोग करना।उन्होंने कहा बच्चे ही देश के भविष्य हैं इनकी बुनियादी स्तर को बिना मजबूत किये हुये हम उस पर बहुत सुंदर इमारत का निर्माण नहीं कर सकते हैं। बच्चों के शारीरिक विकास के साथ-साथ उनकी मानसिक विकास उनकी भावनात्मक शिक्षकों से लगाव, शिक्षकों के द्वारा मित्रवत व्यवहार करते हुये बिना वजह किसी भी तरह का नकारात्मक टिप्पणी नहीं करते हुये सकारात्मक दृष्टिकोण को रखते हुये अपने विद्यालय को उचित वातावरण देते हुये विद्यालय में एक स्वस्थ सुंदर परिपाटी का हम परिचय देते हुये बच्चों को विशेष रूप से जागरूक करते हैं। स्वास्थ्य एवं कल्याण व्यक्तिगत सामुदायिक राष्ट्रीय तथा वैश्विक स्तर पर सार्वभौमिक लक्ष्य है, विश्व स्वास्थ्य संगठन स्वास्थ्य को केवल रोग की अनुपस्थिति ना समझ कर संपूर्ण शारीरिक मानसिक तथा सामाजिक कल्याण की अवस्था के रूप में परिभाषित करता है, स्वास्थ्य और कल्याण जीवन की संपुष्टि संतुष्टि में सशक्त रूप से जुड़ा हुआ है विद्यालय स्वास्थ्य एवं कल्याण कार्यक्रम के उद्देश्य को प्राप्त करने के लिये प्राथमिक से लेकर माध्यमिक स्तर तक के जीवन कौशल को बढ़ाने वाले विषय अधिगम परिणाम विषय वस्तु रूपरेखा तथा  इस पहल को क्रियान्वित करने के लिये रोड मैप बनाया गया है।उन्होंने कहा पाठ्यचर्या की रूपरेखा तथा प्रशिक्षण , संसाधन सामग्री को विकसित करने की प्रक्रिया मानव संसाधन विकास मंत्रालय तथा स्वास्थ्य , परिवार कल्याण मंत्रालय के सहयोग से राष्ट्रीय शैक्षिक अनुसंधान एवं प्रशिक्षण परिषद द्वारा समन्वित की गई है।प्रशिक्षण का  निरीक्षण हेतु जिला स्तरीय जांच दल के सदस्य डॉक्टर रितेश शर्मा, रामायण रमन, मंसूरचक स्वास्थ्य केंद्र के प्रबंधक धर्मेंद्र कुमार , प्रखंड शिक्षा पदाधिकारी  दोनों सदनों का निरीक्षण किया एवं अपने विचारों से सभी प्रशिक्षु के सदस्यों को एवं मास्टर ट्रेनर को उचित मार्गदर्शन किया।

रिपोर्ट : रविशंकर सिंह

The post शिक्षकों का पांच दिवसीय आयुष्मान भारत,स्वास्थ्य प्रशिक्षण का समापन  appeared first on IDEACITI NEWS NETWORK.



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.