चरमराती बिजली व्यवस्था के खिलाफ होगा विद्यार्थी परिषद का आंदोलन


बिना 75% उपस्थिति के एक भी विद्यार्थी को डिग्री न दे यूनिवर्सिटी;- एवीभीपी

बेगूसराय :अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद बेगूसराय जिला के प्रमुख कार्यकर्ताओं का बैठक लोहियानगर विभाग प्रमुख विजेंद्र कुमार के आवास पर हुआ। बैठक में वृक्षारोपण अभियान , समस्यता अभियान ,शैक्षिणिक गतिविधि ,स्थानीय समस्या व इकाई गठन पर विस्तार से चर्चा हुआ। बैठक की अध्यक्षता जिला प्रमुख मुकेश कुमार ने किया। संचालन नगर मंत्री पुरषोतम कुमार ने क़िया। बैठक को शुरू करते हुए पूर्व राष्ट्रीय कार्यकारणी सदस्य अजीत चौधरी ने कहा कि बिजली बेगूसराय का और बेगूसराय को ही नही मिल रहा। 7-8 घन्टा मुश्किल से बिजली मिल रहा उसमे भी लॉ वॉल्टेज की समस्या रहती है। बिजली विभाग वाले आम जनता का कॉल रिसीव नही करते। इतने भीषण गर्मी में काफी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। एबीवीपी बिजली विभाग से मांग करती है कि जल्द से जल्द व्यवस्था को दुरुस्त कर पूर्व की तरह बिजली दे अन्यथा हम सभी आंदोलन होते बाध्य होंगे। विश्वविद्यालय प्रमुख मिलन कुमार व विभाग प्रमुख विजेंद्र कुमार ने कहा विश्वविद्यालय में समस्याओं का अंबार लगा हुआ है ,कुलपति महोदय AC के कमरे में बैठ के यूनिवर्सिटी चलाना चाहते हैं ,साथ ही साथ साल में एकाध महाविद्यालय के स्थापना दिवस या भवन उद्घाटन में पहुँचते भी हैं तो उनसे कार्यक्रम भर से ही मतलब रहता है। महाविद्यालय प्रशासन भी उनसे कोई मांग नही करती व उनके आगत भागत में लग कर लाखों रुपिया उनके स्वागत में खर्च कर देती है। छात्र छात्राओं के रुपिया का दुरुपयोग किया जा रहा है। जो कि कंही से उचित नही है। जिला प्रमुख मुकेश कुमार व जिला संयोजक संयोजक सोनू कुमार ने कहा कि हर वर्ष की तरह इस वर्ष भी बेगूसराय में वृहद पैमाने पर सदस्यता अभियान चलाया जायेगा। पिछले वर्ष बेगूसराय में 25 हजार छात्र छात्राओं को सदस्य बनाया गया था। सभी छात्र छात्राओं को राष्ट्रवादी विचारधारा से जोड़ना हमारा लक्ष्य है।संगठन से जुड़ कर छात्र छात्रा राष्ट्र पुर्ननिर्माण में अपनी महती भूमिका निभा सकते हैं। सदस्यता अभियान के उपरांत बेगूसराय के सभी प्रखंडों में ,सभी महाविद्यालय व 10+2 स्कूल में इकाई गठन किया जायेगा। मौके पर नगर मंत्री पुरषोत्तम कुमार ने कहा कि सभी महाविद्यालय के प्राचार्य महाविद्यालय में हमारे मांगो को पानी शौचालय की समस्या से ऊपर उठने ही नही देना चाहते ,वो मूलभूत सुविधाओं को ही मुहैया नही करवाते हैं इसी में सभी को उलझा के रखा जाता है। उच्च शिक्षा प्राप्त करने वाले छात्र छात्राओं को उच्च शिक्षा जैसा माहौल भी देना होगा, छात्र छात्राओं को महाविद्यालय से जोड़ना होगा। आखिर कब तक बिना पढ़े विद्यार्थी डिग्री लेते रहेंगे। इस मुद्दे पर सभी एक दूसरे पर दोषारोपण कर अपनी अपनी जिम्मेदारी से विमुख हो जाते हैं। महाविद्यालय बिना 75% उपस्थिति के एक भी विद्यार्थी का डिग्री मुहैया नही करें।

The post चरमराती बिजली व्यवस्था के खिलाफ होगा विद्यार्थी परिषद का आंदोलन appeared first on IDEACITI NEWS NETWORK.



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.