डीएम एवं एसपी ने होली एवं शबे बारात को लेकर अनुमंडल, प्रखंड एवं थाना स्तरीय पदाधिकारियों को दिया महत्त्वपूर्ण निर्देश Mahua Live Nalanda

बिहार शरीफ(नालंदा) । होली एवं शबे बारात के अवसर पर विधि व्यवस्था सामान्य बनाए रखने के उद्देश्य से शनिवार को जिलाधिकारी एवं पुलिस अधीक्षक ने अनुमंडल, प्रखंड एवं थाना स्तरीय पदाधिकारियों के साथ वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से बैठक की।
त्योहारों के अवसर पर डीजे का संचालन पूर्णत: प्रतिबंधित है। इसका सख्ती से अनुपालन सुनिश्चित कराने का निर्देश दिया गया। इस संबंध में डीजे संचालकों को पूर्व से सूचित करने को कहा गया। उल्लंघन किए जाने की परिस्थिति में डीजे के उपकरणों को जप्त करने की कार्रवाई की जाएगी। मद्य निषेध का सख्ती से अनुपालन सुनिश्चित कराने का स्पष्ट निर्देश सभी क्षेत्रीय पदाधिकारियों को दिया गया। पूर्व में इस धंधे में लिप्त पाए जाने वाले लोगों की गतिविधियों पर विशेष निगरानी रखने को कहा गया। चौकीदारों के माध्यम से भी आसूचना संकलन पर विशेष बल देने का निर्देश दिया गया। होली तक सघन वाहन चेकिंग सुनिश्चित करने को कहा गया। जिलाधिकारी ने बताया कि चिन्हित संवेदनशील स्थलों पर दंडाधिकारी एवं पुलिस बल की प्रतिनियुक्ति की गई है। फायर ब्रिगेड को 24 घंटे तैयार स्थिति में रखने का निर्देश दिया गया। नगर निगम को सफाई की व्यवस्था हेतु विशेष तैयारी रखने को कहा गया। पुलिस अधीक्षक ने सभी पदाधिकारियों को मद्य निषेध का सख्ती से अनुपालन सुनिश्चित कराने का स्पष्ट निर्देश दिया। किसी भी प्रकार के संदिग्ध स्पिरिट आदि जैसे पदार्थों की बिक्री एवं परिवहन को सख्ती से रोकने को कहा गया इस संबंध में जीरो टोलरेंस की नियत एवं नीति से कार्य करने का निर्देश दिया गया। मद्य निषेध को लेकर आसूचना संकलन पर विशेष बल देने को कहा गया प्राप्त सूचना के आधार पर सघन छापामारी अभियान चलाने का निर्देश दिया गया। ब्रेथ एनालाइजर मशीन के माध्यम से भी संदिग्ध लोगों की रेंडम चेकिंग सुनिश्चित करने को कहा गया।सभी थाना को असामाजिक तत्वों के विरुद्ध निरोधात्मक कार्रवाई का प्रस्ताव देने का निर्देश दिया गया। इन तत्वों के विरुद्ध धारा 107 तथा उपयुक्त मामलों में सीसीए के तहत कार्रवाई का त्वरित प्रस्ताव भेजने का निर्देश सभी थाना प्रभारियों को दिया गया।
बैठक में सभी अनुमंडल पदाधिकारी, अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी, जिला अग्निशमन पदाधिकारी, सभी प्रखंड विकास पदाधिकारी, अंचलाधिकारी, थाना प्रभारी आदि वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से जुड़े थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *