Mahua Live Nalanda: जिला के 38 परीक्षा केंद्रों पर आयोजित मैट्रिक परीक्षा में 50 हजार 760 परीक्षार्थी होंगे शामिल

17 फरवरी से 24 फरवरी तक आयोजित होगा परीक्षा

बिहार शरीफ(नालंदा) । बिहार विद्यालय परीक्षा समिति द्वारा आयोजित वार्षिक माध्यमिक (मैट्रिक) परीक्षा-2022 का आयोजन 17 फरवरी से 24 फरवरी की अवधि में किया जा रहा है। यह परीक्षा दो पालियों में आयोजित की जाएगी। प्रथम पाली पूर्वाह्न 9:30 से अपराह्न 12:45 बजे तक तथा द्वितीय पाली की परीक्षा अपराह्न 1:45 से अपराह्न 5 बजे तक आयोजित की जाएगी। बिहार विद्यालय परीक्षा समिति द्वारा निर्गत निर्देश के अनुसार परीक्षा प्रारंभ होने से 10 मिनट पूर्व तक ही परीक्षार्थियों को परीक्षा केंद्र में प्रवेश की अनुमति रहेगी। प्रथम पाली के परीक्षार्थी पूर्वाह्न 9:20 बजे तक तथा द्वितीय पाली के परीक्षार्थी अपराह्न 1:35 बजे तक अनिवार्य रूप से परीक्षा केंद्र में प्रवेश करेंगे। इसके बाद परीक्षार्थी को परीक्षा केंद्र में प्रवेश की अनुमति नहीं रहेगी।इस परीक्षा के आयोजन के लिए नालंदा जिला में 38 परीक्षा केंद्र बनाए गए हैं। बिहार शरीफ में 20, हिलसा में 8 तथा राजगीर में 10 परीक्षा केंद्र बनाए गए हैं। इनमें से छात्रों के लिए 22 तथा छात्राओं के लिए 16 परीक्षा केंद्र निर्धारित हैं। इन परीक्षा केंद्रों पर 27159 छात्र तथा 23601 छात्राएं शामिल होंगे।परीक्षा के स्वच्छ एवं कदाचार मुक्त वातावरण में आयोजन सुनिश्चित करने के लिए इन परीक्षा केंद्रों पर 161 स्टैटिक दंडाधिकारी प्रतिनियुक्त किए गए हैं। साथ ही 10 गश्तीदल दंडाधिकारी, 8 उड़नदस्ता जोनल दंडाधिकारी एवं 4 सुपर जोनल दंडाधिकारी भी प्रतिनियुक्त किये गए हैं, जो लगातार सम्बद्ध परीक्षा केंद्रों के बीच भ्रमणशील रहते हुए स्वछ परीक्षा का आयोजन सुनिश्चित करेंगे।सभी परीक्षा केंद्रों पर सीसीटीवी कैमरे लगाए गए हैं तथा सतत वीडियोग्राफी की व्यवस्था की गई है। परीक्षा केंद्रों के 500 गज की परिधि में संबंधित अनुमंडल पदाधिकारी के स्तर से दंड प्रक्रिया संहिता की धारा 144 के तहत निषेधाज्ञा लागू रहेगी। इस परिधि में सभी फ़ोटो स्टेट की दुकानें परीक्षा अवधि में बंद रहेंगी। सभी अनुमंडल पदाधिकारियों को इसका अनुपालन सुनिश्चित करने का निदेश दिया।जिला स्तरीय नियंत्रण कक्ष दूरभाष संख्या 06112-235288 पर कार्यरत रहेगा। शिक्षा विभाग की डीपीओ स्थापना को नियंत्रण कक्ष का प्रभारी बनाया गया है।नियंत्रण कक्ष में अलग से सुरक्षित दंडाधिकारी भी प्रतिनियुक्त किये गए हैं।आज डीआरसीसी में सभी केंद्र अधीक्षक एवं प्रतिनियुक्त दंडाधिकारियों/ पुलिस पदाधिकारियों की ब्रीफिंग की गई।अपर समाहर्ता ने स्पष्ट रूप से कहा कि शत प्रतिशत कदाचार मुक्त वातावरण में परीक्षा का आयोजन सुनिश्चित किया जाना है। निरीक्षण के क्रम में किसी भी परीक्षा कक्ष में चिट-पुर्जा पाए जाने पर संबंधित वीक्षक, दंडाधिकारी एवं केंद्र अधीक्षक को जवाबदेह ठहराया जाएगा तथा उनके विरुद्ध सख्त कार्रवाई की जाएगी।परीक्षा केंद्रों पर परीक्षा प्रारंभ होने से 10 मिनट पूर्व ही स्टैटिक दंडाधिकारी की उपस्थिति में प्रश्न पत्र का पैकेट खोला जाएगा, जिसकी वीडियोग्राफी अनिवार्य रूप से कराए जाने का निर्देश दिया गया।सभी अनुमंडल पदाधिकारियों को कोचिंग संस्थानों के कार्यकलाप पर भी गहरी नजर रखने का निर्देश दिया गया। परीक्षा केंद्र में कोई भी वीक्षक अपने साथ मोबाइल फोन नहीं रखेंगे सभी विक्षकों को केंद्र अधीक्षक अपने स्तर से पहचान पत्र निर्गत करेंगे। सभी परीक्षार्थी अनिवार्य रूप से मास्क का उपयोग करेंगे।फ्रिस्किंग के क्रम में अच्छे ढंग से जांच सुनिश्चित करने का निर्देश दिया गया।ब्रीफिंग में अपर समाहर्ता,नगर आयुक्त, सभी अनुमंडल पदाधिकारी, अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी, जिला शिक्षा पदाधिकारी सहित सभी केंद्र अधीक्षक, प्रतिनियुक्त दंडाधिकारी एवं पुलिस पदाधिकारी उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.