Mahua Live Nalanda: फेसबुक पर लगाया रुपया कि तस्वीर, दोस्तों ने अपहरण कर मांगे 10 लाख फिरौती, गिरफ्तार

बिहार शरीफ(नालंदा) । नालंदा थाना क्षेत्र के रघुबीघा गांव से शुक्रवार को फिरौती के लिए अपहृत युवक को पुलिस ने नवादा जिला के मुफ्फसिल थाना के पकरिया नारदीगंज रोड के अरहर खेत से सकुशल बरामद करते हुए तीन बदमाशों को गिरफ्तार किया है । युवक रोहित कुमार पटना डेयरी फार्म में चालक का काम करता था । करीब एक महीना पूर्व वह दूध कलेक्शन के रुपए कंपनी में जमा करने के पूर्व उसका फोटो खींच अपने फेसबुक के स्टेटस पर लगाया था। जिसपर उसके दोस्तों की नजर पड़ी तभी से किशोर उसके दोस्त पैसे के लिए टारगेट बना रहे थे। करीब एक महीना पूर्व भी उसके दोस्तों ने अन्य सहयोगियों के साथ मिलकर उसके साथ मारपीट किया था। जिसके बाद वह बिहारशरीफ को छोड़कर अपने घर में रहने लगा था। शुक्रवार के दिन उसके दोस्त ने कॉल किया और कहा कि घर के बाहर आ जाओ गाड़ी देखने चलना है। जिस पर वह अपने दोस्त की बातों में आ गया और उसके साथ मोटरसाइकिल पर बैठकर गाड़ी देखने के लिए निकल गया। पूर्व से ही गिरियक थाना क्षेत्र के पंचाने नदी स्थित पुल पर चार पहिया लगाए पांच अन्य लोग गाड़ी में सवार थे जैसे ही उसे लेकर उसका दोस्त वहां पहुंचा। सभी ने मिलकर जबरदस्ती रोहित को गाड़ी में बैठा लिया और उसे नवादा की ओर ले कर चला गया। जहां मुफस्सिल थाना क्षेत्र के एक खेत में ले जाकर उसके साथ मारपीट करने लगा और उसके फोन से ही उसके पिता को फोन लगाया और 10 लाख की फिरौती की मांग करने लगा नहीं देने पर जान मारने की धमकी भी दी। जिसके बाद परिजन से तुरंत इसकी सूचना पुलिस को दिया । जिसके बाद पुलिस ने जाल बिछाकर उसे सकुशल बरामद कर लिया। नालन्दा थाना पुलिस ने रोहित कुमार के निशानदेही पर लहेरी थाना क्षेत्र के मेहरपर निवासी मोती प्रसाद का पुत्र अभिजीत कुमार, दीपनगर थाना क्षेत्र के पचौरी गांव निवासी स्वर्गीय भूलन राम का पुत्र दीपक कुमार एवं सिपाह गांव निवासी राजेश यादव का पुत्र चिंटू कुमार को गिरफ्तार किया । राजगीर डीएसपी प्रदीप कुमार ने बताया कि इस मामले में 04 नामजद और 04 अज्ञात लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है अभी तक कुल 3 लोगों की गिरफ्तारी हो गई है। 5 अन्य अभियुक्तों के खिलाफ छापेमारी जारी है गिरफ्तार अभियुक्तों को न्यायालय में सुपुर्द कर दिया गया है ।

Leave a Reply

Your email address will not be published.