Mahua Live Nalanda: सरकार संपोषित माफिया लगान देकर कर रहे शराब का कारोबार : दिलीप

बिहार शरीफ(नालंदा) । कांग्रेस के जिलाध्यक्ष दिलीप कुमार के नेत्रीत्व में प्रतिनिधिमंडल शहर वार्ड न 19 में घटित ज़हरीली शराब से हुई दर्जनों मृतकों के परिजनों से मिलकर सांत्वना दिया । मृतकों के परिजनों से मिलने के बाद जिलाध्यक्ष दिलीप कुमार ने बताया की यह घटना काफी हृदय विदारक है मरने वालों में एक भी मृतक आर्थिक दैनीय है ।सारे मृतक मज़दूर तबके के लोग रोज़ कमाने खाने वाले मेहनत करने वाले लोग थे जो रोज़ कमाते और मज़दूरी के पैसे से अपना परिवार का किसी तरह भरण पोषण कर रहे थे । उन्होंने सरकार और प्रशासन पर आरोप लगाते हुए कहा की शराब बंदी शिर्फ एक दिखावा है असल से सरकार संपोषित माफिया ही सरकार को पिछले दरवाज़े से लगान देकर शराब का अवैध कारोबार करने में लगे हैं । बड़े बड़े कंटेनरों में बड़े बड़े ट्रकों में बड़े बड़े टैंकरों में अवैध शराब को बिहार के बॉर्डर से बड़े बड़े पदाधिकारी उसे बिहार में इंट्री करवाते हैं । जब गरीब गुरबा लोग शराब पीकर मरते हैं तो उनका ठीकरा छोटे पदाधिकारियों जैसे थाना प्रभारी जमादार आरक्षियों के सर डालकर उन्हें मुअत्तल कर फ़ाइल को बंद कर दिया जाता है । जबकि बड़े बड़े ओहदे वाले लोग अपनी पैसे और पावर का इस्तेमाल कर इस तरह की घटनाओं से वरी हो जाते हैं उन्होंने उत्पाद विभाग पर निशाना साधते हुए कहा की सारी गलती उत्पाद विभाग की है । जब राज्य में पूर्ण शराब बंदी लागू है तो उत्पाद विभाग के पास और कौन सा काम है जो शिर्फ पुलिस विभाग के छोटे पदाधिकारियों को इसका निशाना बनाया जाता है एक तो थाने में कम पुलिसकर्मियों का हमेशा रोना थानेदार रोते रहते हैं ऊपर से वह लाइन ओर्डर देखे की क्राइम देखे की सड़क जाम देखे इसलिए सबसे पहले प्रशासनिक कार्यवाही उत्पाद विभाग के बरिय पदाधिकारियों पर होनी चाहिए । श्री कुमार ने माँग की कि अवैद्य ज़हरीली शराब के कारोबारियों को पकड़कर उसपर हत्या का मुक़दमा चलाया जाए राजगीर के पूर्व बिधायक रवि ज्योति ने कहा की यह समय राजनीति करने का नहीं है बल्कि मृतकों के परिवार के साथ सभी लोगों के खड़ा होने का है । सारे मृतक गरीब तबके के मज़दूर वर्ग के लोग हैं दूसरी तरफ प्रशासनिक पदाधिकारी उन्हें सहानुभूति और मुआवज़ा देना तो दूर उल्टे दोषी के घरों को चिन्हित करने के बदले मृतकों के घरों और गरीब गुरबा के घरों को अतिक्रमण का पर्चा चिपकाने में लगी है सही मायने में प्रशासनिक पदाधिकारी अपनी गर्दन बचाने के चक्कर तथा ध्यान भटकवाने में लगी है । जिला प्रतिनिधि मंडल के सदस्यों ने सरकार से आपदा का राशि सरकार के द्वारा किसी भी पीड़ित को दी जाती है वह इन गरीब गुर्बों को अवश्य दिया जाना चाहिए ताकि ये गरीब लोग अपने परिवार का भरण पोषण कर सकें । प्रतिनिधि मंडल में जितेंद्र प्रसाद सिंह , मो मीर अरशद हुसैन , उदयशंकर कुशवाहा , फ़वाद अंसारी , मो शहाम उस्मान गनी , महताब आलम , राजीव रंजन गुड्डु , अताउदिन , राजीव रंजन कुमार, समेत अन्य लोग मौजूद थे

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *