Mahua Live Nalanda: 2022 में मिलेगा राजगीर को फोरलेन कॉरिडोर की सौगात।

बिहार शरीफ ( नालंदा) ।अंतरराष्ट्रीय पर्यटन स्थल राजगीर में मुख्यमंत्री के द्वारा नए-नए योजना के तहत जहां एक से बढ़कर एक विकास कार्य किया जा रहा है। वहीं विकास के नए अध्याय में नए साल यनि 2022 में मिलने वाली हैं फोर लेन एलिवेटेड कारीडोर की सौगात। शीघ्र ही इसका निर्माण शुरू होने वाला है। इस नए कार्य के लिए केंद्र सरकार एवं राजमार्ग मंत्रालय ने मंजूरी दे दी है। इसके निर्माण में करीब 13 सौ करोड़ की लागत होने वाले है।इस कॉरीडोर की लंबाई 8.7 किमी है। निर्माण होनेे वाला कॉरीडोर पर रोप-वे के पास चढ़ने व उतरने के लिए रैंप भी बनाया जाएगा। इस एलिवेटेड कॉरिडोर रोड से राजगीर के हरे-भरे जंगलों का खूबसूरत नजारा आने वाले समय में लोगों को देखने को मिलेगा। लोग राजगीर की हरेे भरे सुंदर वादियों का आनंद अभी पूरी तरह से नहीं ले पाते हैं ना ही देख पाते हैं। इस कॉरिडोर का निर्माण होने केे बाद पर्यटक लोग राजगीर के हरे भरे सुंदर व मनमोहक वादियों का आनंद खुले नेत्र से ले सकेंगे वहीं इस मार्ग से गुजरने वाले वाहनों पर सवार पर्यटक व यात्री लोग जू सफारी के कुछ क्षेत्रों का दृश्य देखने साथ राजगीर के अन्य पर्यटन स्थलों को देख सकेंगे। अंतर्राष्ट्रीय पर्यटन स्थल राजगीर को लेकर सूबे के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की महत्वकांक्षी परियोजनाओं के तहत एक नए अध्याय के रूप में राजगीर एलिवेटेड रोड निर्माण के लिए भारत सरकार ने मंजूरी दे दी है।मिली जानकारी के अनुसार राजगीर के उत्तर की ओर दक्षिण जाने वाले वाहनो को राजगीर-बिहार शरीफ मुख्य मार्ग स्थित अनुमंडल कार्यालय के पास एलिवेटेड कॉरिडोर रोड के निर्माण होगा यनि उक्त स्थल से ही इस पुल पर वाहनों का चढ़ाव शुरू होगा और दक्षिण की ओर नालंदा – नवादा सीमा के पास अवस्थित वानगंगा स्थान पर जाकर वाहन पुल से नीचे उतरेगा। मिली जानकारी के अनुसार निर्माण होने वाले एलिवेटेड कॉरिडोर रोड के लिए मुख्यमंत्री के द्वारा निरीक्षण किया जा चुका है। बताया जाता है कि कुल 8.7 किमी कारीडोर में एलिवेटेड हिस्से की लंबाई 7.40 किमी होगा। इस परियोजना को पूरा करने के लिए भूमि अधिग्रहण करने की योजना बनायी जा चुकी है। इस परियोजना के लिए 18 एकड़ जमीन का आवश्यकता पडेगा। मिली जानकारी के अनुसार इस परियोजना को पूरा निर्माण करने के लिए 30 महीने का लक्ष्य रखा गया है। इस परियोजना का निविदा इसी साल करने की योजना है। इस रोड का निर्माण होने से आनेेेे वाले समय में मलमास मेलाा व 1 जनवरी को लगने वाला जाम का सामना पर्यटक व अन्य यात्रियों को नहीं करना पड़ेगा। क्योंकि मलमास मेला के समय बिहारशरीफ से गया जाने व गया से बिहारशरीफ आने वाले वाहनो को भीड़ के कारण परेशानी का सामना करना पड़ता है। इस रोड का निर्माण होने से पर्यटक सहित आम यात्रियोंं को बेहतर सुविधा राजगीर आने -जाने मेें मिलेगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *