Mahua Live Nalanda: जागेश्वरी देवी की आठवीं पुण्यतिथि पर क्विज प्रतियोगिता आयोजित।

उत्कृष्ट प्रदर्शन करने वाले बच्चे हुए पुरस्कृत।

Mahua Live Nalanda: कराय परसुराय प्रखंड के सुदूरवर्ती ग्रामीण इलाके के दीरीपर गांव में शिक्षा एवं समाज सेवा के क्षेत्र में सराहनीय योगदान देने वाली चर्चित समाजसेविका जागेश्वरी देवी की आठवीं पुण्यतिथि उनके पैतृक गांव में गुरुवार को मनाई गई। इस मौके पर मकरौता पंचायत के नवनिर्वाचित मुखिया सत्येंद्र कुमार उर्फ निरंजन, समाजसेवी आशुतोष कुमार मानव, रमाकांत शर्मा, संजय कुमार गुप्ता, सुभाष बाबा, रंजीत कुमार रामाशीष प्रसाद अरविंद प्रसाद राजू कुमार समेत दर्जनों समाजसेवियों के अलावा बड़ी संख्या में ग्रामीणों एवं स्कूली बच्चों ने उनके चित्र पर माल्यार्पण कर उन्हें भावभीनी श्रद्धांजलि अर्पित की। इसके बाद स्कूली बच्चों के बीच क्विज प्रतियोगिता का आयोजन किया गया। प्रतियोगिता में 3 दर्जन से भी अधिक बच्चों ने हिस्सा लिया। सामान्य ज्ञान पर आधारित इस प्रतियोगिता का संचालन ग्रामीण इंटर कॉलेज दीरी पर के प्रशाखा पदाधिकारी सत्येंद्र कुमार ने किया। प्रतियोगिता में उत्कृष्ट प्रदर्शन करने वाले बच्चे एवं बच्चियों को मेडल एवं अन्य पुरस्कार देकर सम्मानित किया गया। इस मौके पर समाजसेवी आशुतोष कुमार मानव ने कहा कि जागेश्वरी देवी ने इस क्षेत्र में उस समय ज्ञान का अलख जगाने का काम किया जब आसपास कई इलाके में कहीं भी कोई स्कूल कॉलेज नहीं था। शुरुआती दौर में छोटे से कमरे में उन्होंने गरीब बच्चे एवं बच्चियों को मुफ्त में शिक्षा देने का काम किया। इसके अलावा भी वे गरीबों दलितों एवं समाज के अन्य वंचित तबके के लोगों की जीवन पर्यंत सेवा करते रहे। आज की युवा पीढ़ी को इनके कार्यों का अनुकरण करना चाहिए। अपने संबोधन में मुखिया श्री कुमार ने कहा कि जागेश्वरी देवी हम सभी को की माता के समान थी। उनका आशीर्वाद हमेशा मिलता रहता था। अपने संबोधन में ज्वाइंट एक्शन नेटवर्किंग के सचिव एवं चर्चित समाजसेवी रमाकांत शर्मा ने कहा कि जागेश्वरी देवी ने ग्रामीण इलाके में शिक्षा के साथ समाज सेवा के क्षेत्र में जो कार्य किया है उसकी प्रशंसा शब्दों में नहीं की जा सकती। उन्होंने आज की युवा पीढ़ी से अपील करते हुए कहा कि पीड़ित मानवता की सेवा में हम सभी लोग हर संभव प्रयास करते रहे यही सबसे बड़ी पूजा है। कार्यक्रम की अध्यक्षता ग्रामीण इंटर कॉलेज दीरी पर के प्राचार्य कमल किशोर प्रसाद ने किया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *