Mahua Live Nalanda: आयुद्ध निर्माणी नालंदा राजगीर में जल्द दो प्लांट और काम करने लगेगा :महाप्रबन्धक

Mahua Live Nalanda: आयुध निर्माणी नालंदा राजगीर में ढाई से तीन वर्षों में दो और प्लांट बनकर तैयार हो जाएगा। इसके लिए काम चालू है। जिसका नाम ट्रिपल बेस प्रोपलेंट प्लांट एवं एनसी एनजी पेस्ट प्लांट है। उक्त जानकारी बुधवार को आयुध निर्माणी नालंदा के महाप्रबंधक मनोज श्रीधर वाघ ने दिया। उन्होंने बताया कि इन दोनों प्लांटों को चालू होने के बाद जो मोडयूल बनाने के लिए दूसरे जगह से समानो को आयात किया जाता है। यह आयात बंद हो जाएगा क्योंकि आयुध निर्माणी नालंदा आयात होने वाले सामानों का उत्पादन किया जाएगा। यनि आने वाले समय में आयुध निर्माणी नालंदा स्वयं लम्बी के रुप में हो जाएगा । वर्तमान समय में आयोजन निर्माण इन नालंदा में तीन प्लांट चालू है पहला प्लांट एनसीएनजी, दूसरा प्लांट एसिड कंसंट्रेशन एवं तीसरा प्लांट के रूप में पायलट व एसेम्बली है। उन्होंने बताया कि यहां से उत्पादन होने वाले मोडयूल बेहतर मोडयूल के रूप में है इसका उपयोग करने के बाद भारतीय सैनिकों को किसी प्रतिकूल असर नहीं पड़ता है। उन्होंने बताया कि 155 मिलीलीटर वाले गन में इसका प्रयोग किया जाता है जिसके बाद 30 से 40 किलो मीटर मारक क्षमता को यहां के मोडयूल बढ़ाने सक्षम है। उन्होंने बताया कि आयुध निर्माणी नालंदा प्रतिवर्ष 4 लाख मोडयूल को बनाने में सक्षम है ।वर्तमान समय में पौने तीन लाख बन कर तैयार है और पौने दो लाख का मांग है। महाप्रबंधक ने बताया की भारत के चार मित्र देश है।जहां से आने वाले थे लेकिन कोरोन को लेकर नहीं आ पाये। अगर सब कुछ ठीक रहा तो नए वर्ष में मित्र देशों के प्रतिनिधियों को आने की संभावना हो सकती है।उन्होंने बताया कि आयुध निर्माणी नालंदा से उत्पादन हो रहे मोडयूल की गुणवत्ता बेहतर रहने के कारण भारतीय सैनिकों की मांगों के अलावे मित्र देशों को भी अच्छा लगा है जिसके परिणाम स्वरूप आयुध निर्माणी नालंदा में हो रहे उत्पादन की मांग मित्र देशों से भी होगा। उन्होंने बताया कि आयुध निर्माणी नालंदा से हो रहे उत्पादन मोडयूल का परीक्षण किया गया है जो माइनस 30 डिग्री में भी काम करता है। बताते चलें कि आयुध निर्माणी नालंदा उत्पादन हो रहे मोडयूल का प्रथम खेप 31 मार्च 2016 को भारतीय सैनिकों के लिए गया था।

Leave a Reply

Your email address will not be published.