Mahua Live Nalanda: नालन्दा कॉलेज के शिक्षा विभाग में परिचयात्मक कार्यक्रम आयोजित।

शिक्षक ही समाज का निर्माता: डॉ. परमहंस

Mahua Live Nalanda: शिक्षक ही सफ़ल समाज का निर्माता होता है। शिक्षक समाज में उच्च आदर्श स्थापित करने वाला व्यक्तित्व होता है। उपर्युक्त बातें नालन्दा कॉलेज के शिक्षा विभाग में आयोजित नव नामांकित बी. एड. (2021-23) के परिचयात्मक कार्यक्रम में मुख्य अतिथि के रूप में कही। उन्होंने कहा कि किसी भी देश या समाज के निर्माण में शिक्षा की अहम् भूमिका होती है। कहा जाए तो शिक्षक ही समाज का आईना होता है। हिन्दू धर्म में शिक्षक के लिए कहा गया है कि ‘आचार्य देवो भव:’ यानी कि शिक्षक या आचार्य ईश्वर के समान होता है। यह दर्जा एक शिक्षक को उसके द्वारा समाज में दिए गए योगदानों के बदले स्वरूप दिया जाता है। वर्तमान समय मे शिक्षक की अहम भूमिका हो गई है क्योंकि तकनीकी युग मे भी विद्यार्थी को समझने और समझाने वाला शिक्षक ही है।
इस कार्यक्रम की अध्यक्षता करते हुए विभागाध्यक्ष डॉ. ध्रुब कुमार ने कहा कि शिक्षण- प्रशिक्षण शिक्षक निर्माण की प्रक्रिया है। शिक्षक को समाज मे जीवंत बांये रखने के लिए प्रशिक्षण का अमूल्य योगदान है।
इस अवसर पर डॉ. राजेश कुमार ने कहा कि शिक्षक देश का भविष्यनिर्माता है। इसलिए समाज को निर्मित करने के लिये शिक्षकों का प्रशिक्षण अतिआवश्यक है।
कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए सहायक प्राध्यापक डॉ. रंजन कुमार ने कहा कि शिक्षक अपने कर्त्तव्य का पालन करे और देश का भविष्य गढ़े।
इस कार्यक्रम को सहायक प्राध्यापक श्रीमती पिंकी कुमारी, उषा कुमारी, प्रशांत, संगीता कुमारी आदि लोगो ने सम्बोधित किया।
इस कार्यक्रम के सफल आयोजन के लिए प्राचार्य डॉ. परमहंस ने शिक्षा परिवार को धन्यवाद ज्ञापित किया। इस कार्यक्रम को सफल बनाने में बी. एड. प्रशिक्षु मनोज, सुधीर, साहिल, प्रिंस, नंदिनी, दीक्षा, वंशिका, अभिनंदन, अविनाश, श्वेता, रुबिना, निशा आदि लोगो ने महत्त्वपूर्ण योगदान दिया।

Leave a Reply

Your email address will not be published.