Mahua Live Nalanda: कानून का जानकार बन कर प्रसार करे और शोषितों वंचितों तथा समूह समाज देश की उन्नती के अधिकार प्राप्ति में करे सहयोग : डीजे

एसपी ने कहा विधिक प्राधिकार कार्यक्रम और प्रशंसनीय, कानून की जानकारी का लोगों के बीच प्रसार अधिकार प्राप्ति के आवश्यक

विधिक सहायता एवं जागरूकता मेघा कैंप में नालंदा कॉलेजिएट इंटर मिडिएट स्कूल में हुआ आयोजन

Mahua Live Nalanda: नालसा एवं बालसा के आजादी के अमृत उत्सव पर 14 नवम्बर तक पैन इंडिया के तहत चलाये जा रहे जन जन कानूनी जारूकता अभियान के तत्वाधान में जिला विधिक प्राधिकार अध्यक्ष सह जिला जज डा. रमेशचन्द्र दूबेदी की अध्यक्षता व सचिव सह एडीजे मो. मंजूर आलम के निर्देशन में नालंदा कॉलेजिएट स्कूल में विधिक जागरूकता मेघा कैप का आयोजन किया गया।

इसके तहत सामहरणालय सामाजिक कल्याण श्रम विभाग रोटरी क्लब जिला विधिक प्राधिकार व एआर अकादमी व अन्य स्कूलों के स्टाल लगे थे। छात्रा तान्या राज तथा कुछ अन्य स्कूली बच्चों ने लड़कियों के जीवन संघर्ष तथा गांवों की बेहतर बनाने की प्रेरक प्रदर्शनियां लगाई थी। इसके अलावा एआर आकादमी की शिक्षिका अनामिका एवं शिक्षक सुबोध के निर्देशन में छात्राओं अमिषा, ईषा, सलोनी, आशुकी एवं छात्र रौनक, सुभम आदि ने मिलकर तत्य परख प्रेरणास्पद पैटिंग, निबंध व माॅडल स्टाल में लगाकर बाल विवाह के त्रुटियों से लोगों को आगाह किया। वहीं रोटरी क्लब के सदस्य सुनीता सिन्हा एवं संजीत कुमार ने जरूरत मंदों के बीच 50 कम्बल का वितरण किया। जिला प्राधिकार के स्टाल पर आये लोगों को कानूनी जानकारी दी गई। श्रम विभाग के स्टाल से लगभग 50 श्रमिकों को श्रमिक कार्ड वितरण करने के साथ ही सामाहरणालय स्टाल से दिव्यांगों को ट्राई साईकिल, दृष्टिहीणों को मशीन तथा अन्य सामानों का वितरण किया गया।

कार्यक्रम का आयोजन विद्यालय हाल में किया गया। जिसके तहत जिला जज एसपी सहित, एडीजे प्रतिभा, संतोष कुमार गुप्ता, जेएम अविनाश कुमार, प्रियाशू, शिवम, एडीएम, डीसीएलआर, संघ सचिव संतोष कुमार, पीपी कैसर इमाम ने भगा लिया। मंच का संचालन सचिव मो. मंजूर आलम ने किया। कार्यक्रम को संबोधित करते हुए जिला जज ने कहा की की लोगों की ऐसी धारणा थी की न्यायालय का कार्य सिर्फ फैसला सुनाने तक ही समित है। परन्तु सबोच्च न्यायालय ने यह महसूस किया की लोगों के बीच कानून सहित सरकार प्रशासन तथा अन्य सामाजिक गतिविधियों व योजनाओं की जानकारी दिलाना आवश्यक है। जिससे वे अपना अधिकार योजनाओं को लाभ प्राप्त कर सके। उन्होंने विद्या धन बांटने से बढ़ता है का उदाहरण देते हुए उपस्थिल लोगों को कानून का जानकार बनने का प्रेरित करते हुए कहा की इसे अपने तक सिमित न रखे इसका प्रसार करे जिससे शोषित निर्धन वंचित जरूरमंद अपने अधिकार और विभिन्न योजनाओं की जानकारी प्राप्त कर उसे हासिल करे और समूह समाज और देश की उन्नती में अहम भूमिका का निवाह करे। वहीं एसपी ने अपने संबोधन में कहा की अधिक से अधिक लोगाें तक कानूनी जागरूकता पहुंचाने के लिए स्वयं जानकार होना होगा। ताकि इसके प्रसार से लोगों को जागरूक कर इनके अधिकार दिलवा सके। यह कार्यक्रम इस संबंध में प्रशंसनीय है। प्राधिकार कर्मी मो. आतीफ द्वारा निर्मित जिला विधिक सेवा प्राधिकार के कार्यक्रमों व उद्देश्यों का संक्षिप्त विवरण चलचित्र पर उपस्थित लोगों को प्रस्तुत कर दिखाया गया। उपस्थित छाञ छात्राओं ने सभी भाग ले रहे पदाधिकारियों को एक एक पौधा भेंट किया। प्रायधिकार कर्मी मुकुंद माधव, कौशल किशोर, मंजित सिंह, अरविंद तथा पीएलभी दयानंद, नाहिरा नाज, राजीव ने कार्यों में सहयोग किया।

Leave a Reply

Your email address will not be published.