Mahua Live Nalanda: नहाय खाय के साथ चार दिवसीय छठ महापर्व शुरू।

Mahua Live Nalanda: भगवान भास्कर की आराधना का चार दिवसीय महापर्व छठ नहाय खाय के साथ सोमवार से शुरू हो गया। लोक आस्था के महापर्व छठ के प्रथम दिन प्रातः छठ वर्ती ने अपने परिवार के सदस्यों के साथ शहर और गांव के नदियो, घाटों व तालाबों किनारे पहुंच स्नान एवं सूर्य उपासना के साथ नहाय—खाय की रस्म पूरा किया।
नहाय खाय के दौरान व्रतियों ने अरवा चावल का भात, चने की दाल, कद्दू की सब्जी का भोग लगाया। सूर्य उपासना के इस पावन पर्व पर नहाय खाय के अगले दिन आज यानि मंगलवार को निर्जला उपवास रखकर खरना किया जाएगा। खरना में दूध, अरवा चावल व गुड़ से बनी खीर एवं रोटी का भोग लगाया जाता है। खरना के बाद व्रतियों का 36 घंटे का निर्जला उपवास शुरु हो जाएगा जो कि 10 नवंबर की शाम अस्ताचलगामी सूर्य और 11 नवंबर को उदीयमान सूर्य को अ‌र्घ्य देने के बाद पारण के साथ पूरा होगा। शास्त्रों के अनुसार छठ पूजा की शुरुआत नहाय-खाय के साथ होती है और इस दिन स्नान के बाद सूर्य देवता को साक्षी मानकर छठ व्रत करने वाले महिला एवं पुरुष श्रद्धालु संकल्प लेते हैं। इस दिन व्रती स्नान के बाद नये कपड़े धारण करती हैं। और पूजा बाद कद्दू की सब्जी और चावल को प्रसाद के तौर पर ग्रहण करती हैं। व्रती के भोजन के बाद परिवार के सभी सदस्य भोजन करते हैं। नहाय खाय के दिन भोजन करने के बाद व्रती अगले दिन खरना पूजा करती हैं।
सब्जी के दाम यूं तो पहले से ही काफी महंगे हैं पर छठ पर्व को ले कद्दू ने तो सारे रिकार्ड ही तोड़ दिए। जिले के बिहार शरीफ स्थित बाजार समिति,भरावपर,नई सराय,रामचंद्रपुर के अलावे अन्य जगहों पर कद्दू 90 रूुपये प्रति किलो बिके हैं और नियम पालन के वजह से लोगों को खरीदना भी पड़ा। एक दिन पूर्व तक कद्दू का दाम महज 20 से 30 रुपये किलो था जो कि रविवार को नहाय-खाय मे बढ़ती मांग को लेकर अचानक बढ़ गयी।

Leave a Reply

Your email address will not be published.