Mahua Live Nalanda: राष्ट्रीय बाल विज्ञान कांग्रेस ने 29 वी जिला स्तरीय प्रदर्शनी आयोजित किया।

Mahua Live Nalanda: सदर अलम मेमोरियल सेकेंडरी स्कूल के परिसर में 29 वी बाल विज्ञान कांग्रेस की जिला स्तरीय प्रदर्शनी का आयोजन किया गया।कार्यक्रम का उद्घाटन करते हुए ग्रामीण विकास मंत्री श्रावण कुमार ने कहा कि विज्ञान का उपयोग सतत जीवन के लिए आवश्यक है परंतु हमें ध्यान रखना चाहिए कि भावी पीढ़ी के लिए भी प्राकृतिक संसाधन संरक्षित रख सके क्योंकि मानव जीवन का संरक्षण एवं विकास की जिम्मेवारी वैज्ञानिकों की होती है। उन्होंने कहा कि हमारे बच्चे एक से एक प्रोजेक्ट लाकर नालंदा की योग्यता व वैज्ञानिक सोच को मूर्त रूप दे रहे हैं। इस प्रदर्शनी के आयोजन से ग्रामीण बच्चे भी अपनी प्रतिभा को स्थापित कर रहे हैं।

सांसद कौशलेंद्र कुमार ने कहा कि कार्बन का उत्सर्जन पूरे जीव जगत को प्रभावित कर रहा है। इसके समाधान के प्रति हमारे बच्चे गंभीर हैं और अवशिष्ट एवं बेकार पड़े चीजों का वैकल्पिक उपयोग की समझ को प्रदर्शित कर रहे हैं।

शिक्षा पदाधिकारी केशव प्रसाद ने कहा कि मैंने ग्रामीण परिवेश में रहकर अध्ययन किया है और अध्ययन में उत्पन्न समस्याओं को भलीभांति समझता हूं। इसके बावजूद ग्रामीण छात्रों में कुछ नया करने की जिज्ञासा होती है। आज की परियोजनाएं सिद्ध कर रही है कि हमारे बच्चे बिखरे पड़े बेकार की चीजों को जनोपयोगी कार्य मे लगा सकते हैं और अपनी वैज्ञानिक दृष्टिकोण से वैश्विक ताप ,जल संकट एवं पेट्रोलियम पदार्थ से उत्पन्न सेकर का सरलता से समाधान कर सकते हैं।

जिला समन्वयक शैलेंद्र प्रसाद ने कहा कि बच्चों में क्या -क्यों कि सोच परियोजना की ओर ले जाता है और इस मंच से हम विद्यालय एवं विद्यालय के बाहरी बच्चों को भी अपनी प्रतिभा प्रतिभा प्रदर्शन का अवसर देते हैं। डॉक्टर सत्येंद्र प्रसाद जिला रिसोर्स पर्सन एवं डॉ कुमार गौरव ने कहा कि सतत जीवन के लिए किसान एक व्यापक विषय है जिसके अधीन पर्यावरण के सारे कारक आ जाते हैं। वर्तमान जीवन की खुशहाली और भविष्य के लिए प्रकृति का संरक्षण एवं संवर्धन विज्ञान का मूल मंत्र है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.