Mahua Live Nalanda: मुख्यमंत्री के आदेश के चार महीने बाद गिरियक के बरगहिया पईन की उड़ाही शुरू।

बर्गहिया पैन से हटाया जा रहा अतिक्रमण

अधिकारियों ने कहा 2 बार दिया गया था नोटिस

Mahua Live Nalanda: गिरियक के बर्गहिया पैन से अतिक्रमण हटाकर उड़ाही का काम शुरू किया गया। इसको लेकर पुलिस की मौजूदगी में स्थानीय प्रशासन को बुलडोजर चलाकर पैन पर मकान दुकान बनाकर किये गए अतिक्रमण को हटाने का काम गुरुवार को करना पड़ा। बता दें कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से अतिक्रमण मुक्त कर पैन उड़ाही करने की मांग ग्रामीणों ने किया जिसके बाद यह कार्य शुरू हुआ।


इस कार्य से अधिकांश लोगों में खुशी है वहीं अतिक्रमण कर जिंदगी गुजर बसर कर रहे लोगों में गम भी है। बताते चलें कि मजबूर पीड़ित किसानों ने इसके जीर्णोंउद्धार के लिए जिलाधिकारी से लेकर मुख्यमंत्री तक गुहार लगा रखा था। लोगों के काफी जद्दो जेहद के बाद पूरी प्रशासन और पुलिस हरकत में आई और अतिक्रमण हटाने का काम शुरू हुआ। इस संबंध में सहायक समाहर्ता श्रीकांत कुण्डलिक खांडेकर ने बताया कि मुख्यमंत्री के निर्देश के बाद से ही कार्रवाई शुरू कर दी गयी थी बीच में चुनाव की व्यस्तता थी। उन्होंने बताया सभी अतिक्रमण कारियों को सूचना दे दिया गया था जिसके बाद आज कार्रवाई शुरु हुई। इस संबंध में उनका कहना है कि इससे पहले भी प्रपत्र-1 के तहत लगभग 45 अतिक्रमणकारियों को नोटिस दिया जा चुका है और प्रपत्र -2 के तहत लगभग 66 यानि कुल 111 अवैध अतिक्रमणकारियों को मकान खाली करने का नोटिस भेज दिया गया था। उन्होंने कहा कि बहुत सारे लोग पईन को बीचों-बीच अतिक्रमण कर लिए और अपना अवैध आशियाना बना लिए जिससे पैन का अस्तित्व ही समाप्त हो चुका था और 10 एकड़ की कृषि योग्य भूमि तालाब में तब्दील हो चुकी है । आज प्रशासन ने इसके विरुद्ध कार्रवाई कर बुलडोजर चलाकर मकान खाली कराया । मुख्य रूप से तीन गाँव गिरियक, डॉक्टर इंग्लिश और घोड़ा कटोरा गांव के अतिक्रमण किये जाने से यह स्थित पैदा हुई। श्री खांडेकर ने बताया कि अतिक्रमण मुक्त कर आगे की प्रक्रिया शुरू की जाएगी ताकि 12 गांव तक जाने सिंचाई के पानी को पुनः चालू किया जा सके ताकि लोगों की समस्या दूर हो।
लोगों का मानना है कि इस पैन से पूर्ण अतिक्रमण हट जाने और पैन की उड़ाही हो जाने से इलाके के लोगों की सारी समस्या दूर होगी ।

क्या कहते हैं गिरियक अंचलाधिकारी ,,,,,
गिरियक अंचलाधिकारी अलख निरंजन यादव ने बताया कि जिन लोगों ने भी पैन पर अतिक्रमण कर घर बना लिया है नोटिस दिया गया लेकिन लोग खाली नहीं कर रहे थे जिसके बाद आलाधिकारी के साथ पुलिस प्रशासन ने कार्रवाई शुरू की गई। सरकार के दिशा निर्देश के अनुसार अतिक्रमणकारियों को हटाया जा रहा है ।वहीं पंचाने नदी के समीप पईन के अलंग क्षेत्र में लगभग 20 वर्ष पहले महादलित परिवारों के लिए इंदिरा आवास बना दिया गया तो गिरियक बाजार में कुछ लोगों ने मौके का फायदा उठा कर अतिक्रमण कर पईन के बीचों बीच भी अवैध मकान बना लिया ।
इस दौरान सहायक समाहर्ता श्रीकांत कुण्डलिक खंडेवाल,अंचलाधिकारी अलख निरंजन यादव, लघू सिंचाई विभाग के कनीय अभियंता सतीश कुमार, प्रभारी अंचल निरीक्षक देश दीपक, कर्मचारी सुभाष चंद्र बोष, सरकारी अमीन रंजन कुमार के अलावा सभी राजस्व कर्मचारी एवं पुलिस बल शामिल थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.