एडीजे प्रभाकर झा ने कार्यभार सौंपा, बांका जिला न्यायालय में करेंगे योगदान

कहा निष्पक्ष न्याय मेरे कार्य का उद्देश्य

बिहार शरीफ (नालंदा) । जिला न्यायालय में एडीजे पंचम सह उत्पाद स्पेशल न्यायाधीश के पद पर पदासीन प्रभाकर झा ने कार्यभार सौंपा। अब वे स्थानांतरित होकर बांका जिला न्यायालय में इसी पद पर कार्य योगदान करेंगे । उन्होंने कहा कि निष्पक्ष न्याय ही मेरे कार्य का शुरुआत से आज तक उदेश रहा है। मैंने आज तक चेहरा देखकर या प्रभावित होकर कभी फैसला नहीं सुनाया। मैंने कनीय या वरीय अधिवक्ताओं को एक समान रुप में देखा और विवाद के मेरिट पर न्याय हित में निष्पक्ष रहकर कार्य किया।

मैंने कनीय या वरीय अधिवक्ताओं को एक समान रुप में देखा

इसमें ना तो समझौता किया और ना ही भविष्य में करूंगा। इन्होंने अक्टूबर 2007 से मधुबनी जिला न्यायालय में कार्य योगदान के साथ न्यायिक अधिकारी के रूप में कार्य शुरू किया। सितंबर 2016 में स्थानीय व्यवहार न्यायालय में एसीजेएम पद पर कार्य योगदान किया फिर यहीं मेरिट परीक्षा उत्तीर्ण कर प्रोनत हो एडीजे पद पर कार्य योगदान किया। 6 साल 2 महीना का लंबी कार्य अवधि स्थानीय व्यवहार न्यायालय में रहा। इस दौरान जून 21 से सितंबर 21 तक विधिक प्राधिकार के प्रभारी सचिव नियुक्त होने पर दोनों पदों का कार्य बखूबी संभाला और इनके कार्यकाल में दो राष्ट्रीय लोक अदालतें भी आयोजित हुई। जिसमें जिला प्राधिकार पूरे राज्य में सातवें व 11 वें पायदान पर रहा था।

इनकी न्यायिक कार्यों में गति और त्वरित न्याय के सभी मुरीद थे

इनकी न्यायिक कार्यों में गति और त्वरित न्याय के सभी मुरीद थे। सचिव कमलेश कुमार, तत्कालीन सचिव दिनेश कुमार सहित प्रभात रंजन, संजय कुमार, सुबोध प्रसाद, जय विकास सिंह, सुखनंदन, गौरव कुणाल, अरेंद्र पासवान, गया प्रसाद, आदि अधिवक्ताओं ने इनके स्थानांतरण पर निराशा व्यक्त करते हुए कहा कि ऐसे सरल निष्पक्ष न्यायिक अधिकारियों की निष्पक्ष न्याय के लिए जरूरत है। उनके पुनः प्रोन्नति के साथ यहां कार्य योगदान की कामना करता हूं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

You may have missed