जिलाधिकारी ने नगरनौसा प्रखंड के खजुरा पंचायत में पीडीएस एवं नल जल योजना का किया निरीक्षण

स्थानीय लोगों से बातचीत कर डीएम ने लिया फीडबैक


NALANDA । जिलाधिकारी शशांक शुभंकर ने आज नगरनौसा प्रखंड के खजुरा पंचायत में नल जल योजना, पीडीएस दुकान आदि का निरीक्षण किया। इस दौरान स्थानीय लोगों से बातचीत कर फीडबैक लिया तथा उनकी समस्याओं के बारे में भी जानकारी ली।उन्होंने खजुरा पंचायत के दलदलीचक स्थित पैक्स गोदाम में पैक्स द्वारा संचालित जन वितरण प्रणाली की दुकान का निरीक्षण किया। वहां खाद्यान्न ले रहे लाभुकों से उन्होंने बातचीत कर खाद्यान्न की मात्रा एवं दर के बारे में जानकारी ली। लोगों द्वारा मात्रा एवं दर के बारे में संतोषप्रद जानकारी दी गई।

पूर्वाहन एवं अपराहन में नल जल के माध्यम से हो रही जलापूर्ति


मौके पर उपस्थित स्थानीय लोगों से उन्होंने पंचायत में नल जल योजना के क्रियान्वयन के बारे में भी फीडबैक लिया। ज्ञात हुआ कि पंचायत के वार्ड नंबर 4 में मोटर जल गया है। बताया गया कि मोटर ठीक करा लिया गया है। जिसे आज ही लगा कर जलापूर्ति चालू कराने का निर्देश दिया गया।जिलाधिकारी ने पंचायत के वार्ड नंबर 14 (शकरपुरा) में जाकर नल जल योजना की स्थिति को देखा। वार्ड के निवासी लोगों से उन्होंने फीडबैक भी लिया। लोगों द्वारा बताया गया कि प्रतिदिन दो बार पूर्वाहन एवं अपराह्न में नल जल के माध्यम से जलापूर्ति नियमित रूप से की जा रही है। लोगों द्वारा वार्ड में निर्मित नाली के जल निकासी की समस्या के बारे में जिलाधिकारी को अवगत कराया गया। जिलाधिकारी ने प्रखंड विकास पदाधिकारी नगरनौसा एवं प्रोग्राम पदाधिकारी मनरेगा को समस्या के निदान के लिए उपयुक्त कार्रवाई सुनिश्चित करने का निर्देश दिया।क्षेत्र भ्रमण के क्रम में जिला शिक्षा पदाधिकारी, जिला प्रोग्राम पदाधिकारी आईसीडीएस आदि द्वारा भी क्रमशः विद्यालयों एवं आंगनवाड़ी केंद्रों का निरीक्षण किया गया। उत्क्रमित मध्य विद्यालय खजुरा में चहारदीवारी के निर्माण हेतु स्थानीय लोगों द्वारा अनुरोध किया गया। जिसे मनरेगा के माध्यम से बनवाने हेतु पहल का निर्देश दिया गया।

आगनबाडी के ज्यादातर बच्चों ने नही पहना था ड्रेस

आंगनबाड़ी केंद्रों में ज्यादातर बच्चे पोशाक में नहीं आ रहे हैं, इसके लिए जिला प्रोग्राम पदाधिकारी कार्रवाई सुनिश्चित करने को कहा गया।विद्यालयों एवं आंगनवाड़ी केंद्रों में पाई गई अन्य कमियों को भी प्राथमिकता के आधार पर दूर करने हेतु कार्रवाई सुनिश्चित करने का निर्देश संबंधित पदाधिकारियों को दिया गया। निरीक्षण के क्रम में प्रखंड के वरीय प्रभारी पदाधिकारी-सह-सहायक निदेशक बाल संरक्षण,जिला शिक्षा पदाधिकारी, जिला प्रोग्राम पदाधिकारी, प्रखंड विकास पदाधिकारी नगरनौसा, पीओ नगरनौसा,बाल विकास परियोजना पदाधिकारी नगरनौसा सहित अन्य पदाधिकारी, स्थानीय मुखिया/जनप्रतिधि गण एवं आमलोग उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

You may have missed